आसान नहीं है ‘वर्क फ्रॉम होम’ की राह (‘Work From Home’ Is Not An Easy Task)

1
570
Work From Home Is Not An Easy Task

भी फैमिली प्रॉब्लम तो कभी बच्चे के जन्म के बाद अक्सर महिलाओं को बेमन से ही सही नौकरी छोड़नी पड़ती है, इनमें से कुछ महिलाएं ख़ुद को ये कहकर दिलासा देती हैं कि कोई बात नहीं वर्क फ्राम होम का ऑप्शन तो है न.  ‘वर्क फ्रॉम होम’ ये शब्द सुनने में तो बहुत अच्छा लगता है, ऐसा लगता है इसमें आसानी से घर संभालते हुए भी काम करके पैसे कमाए जा सकते हैं, मगर क्या ये इतना आसान है जितना सुनने में लगता है, बिल्कुल नहीं. क्या है वर्क फ्रॉम होम की मुश्किलें? आइए, जानते हैं.

फ्री होकर काम नहीं कर पाते

ऑफिस जाने के बाद घर पर भले ही कितना भी अर्जेट काम हो, आपको वो करना नहीं पड़ता. आप सिर्फ़ ऑफिस का कही काम करती हैं, मगर घर पर रहने पर आपको घर के काम को ही प्राथमिकता देनी पड़ती है और ऑफिस का काम सेकेंडरी हो जाता है. ऐसे में कई बार डेडलाइन पर काम पूरा नहीं होता. घर के माहौल और ऑफिस के माहौल का भी फर्क पड़ता है, ऑफिस में आप ज़्यादा क्रिएटिव तरीक़े से काम कर पाती हैं.

मेहमाननवाज़ी में वक़्त बर्बाद

जब आप घर पर रहती हैं, तो किसी न किसी रिश्तेदार का आना-जाना लगा ही रहता है, अब आप उन्हें न तो मना कर सकती हैं और न ही पूरी तरह इग्नोर करके अपना काम कर सकती हैं. उनके आने पर आपको चाय-पानी, नाश्ता देने के साथ बिना मन के ही सही कुछ देर बात भी करनी पड़ती है. नतीजतन आपका काम का समय बर्बाद होता है आपके दिमाग़ में भले ही चल रहा हो कि जल्दी से ये चली जाएं फिर अपना काम करूं, मगर मेहमानों से जल्दी पीछा छुड़ना संभव नहीं होता.

Work From Home Is Not An Easy Task

अनकहा प्रेशर

प्रिया ने अभी कुछ दिनों पहले ही फैमिली प्रॉब्लम के कारण नौकरी छोड़ दी. उस वक़्त उसने सोचा की घर बैठे थोड़ा-बहुत फ्रीलांसिंग का काम कर लेगी, जिससे उसकी थोड़ी बहुत कमाई भी हो जाएगी और नौकरी छोड़ने का अफसोस भी नहीं होगा, मगर उसकी सोच बिल्कुल ग़लत साबित हुई. उसे लगा था कि घर पर रहकर वो आराम से काम कर सकेगी, मगर ऐसा हुआ नहीं. सुबह का काम निपटाने के बाद उसे सास-ससुर के दोपहर के लंच का भी ध्यान रखना पड़ता, जब ऑफिस चली जाती थी, तब सासू मां ख़ुद ही लंच बना भी लेती थीं, मगर बहू के रहते भला सास काम कैसे कर सकती है. अब लंच कराने और बर्तन धोने के बाद दोपहर में तुरंत लैपटॉप लेकर बैठ जाती, फिर कुछ घंटे बाद दिमाग़ में फिर से किचन और चाय के कप तैरने लगते. शाम हो गई है सास-ससुर को चाय बनाकर देनी है. इन सबके कारण वो अपने काम को सौ फीसदी नहीं दे पाती थी और इस बात का उसे बहुत अफसोस भी होता था, मगर कर कुछ नहीं सकती थी.

बच्चों की ज़िम्मेदारी

काजल जब सुबह 9 बजे ऑफिस निकल जाती थी, तो उसके जाने के बाद सासू मां उसकी बेटी को नाश्ता कराने से लेकर नहलाने और स्कूल के लिए तैयार करने तक का सारा काम करती थी, मगर जब से काजल ने जॉब छोड़कर घर से काम करना शुरू किया है, उसे बेटी का सारा काम ख़ुद ही करना पड़ता है. खाने की प्लेट लेकर उसके पीछे दौड़ने से लेकर स्कूल के लिए तैयार करने तक. इन सब काम में काफ़ी समय चला जाता है और इस वजह से वो कई बार वो अपने क्लाइंट को समय पर प्रोजेक्ट भी सबमिट भी नहीं कर पाती है.

दरअसल, जब महिलाएं घर के बाहर जाती हैं, तो एक बंधा-बंधाया रूटीन होता है, वो एक लीमिट तक घर का काम निपटाने के बाद फ्री होकर निकल जाती हैं और ऑफिस पहुंचने के बाद घर के काम की चिंता नहीं सताती वहां सिर्फ़ उन्हें अपना काम दिखता है, मगर घर में रहने पर चाहकर भी वो के काम और बच्चों की ज़िम्मेदारी से दूर नहीं भाग सकतीं. इसलिए आप अगर ये सोचकर नौकरी छोड़ रही हैं कि कि ऑफिस की तरह घर से भी आप 8 घंटे काम कर लेंगी, तो ये संभव नहीं है. यहां आपको 2 या 1 घंटे के टुकड़ों में काम करना पड़ेगा. यदि इस बात के लिए मेंटली तैयार हैं तभी वर्क फ्रॉम होम का ऑप्शन चूज़ करें.

Work From Home Is Not An Easy Task

प्रोफशनल बनने के लिए…

  • यदि आप घर से किसी प्रोफेशनल की तरह ही काम करना चाहती हैं, तो ख़ुद बहुत स्ट्रिक्ट बनाना होगा. घर के सभी फैमिली मेंबर्स को भी ये बात समझानी होगी कि आप घर पर बैठी नहीं हैं काम कर रही हैं, इसलिए पहले की तरह ही आपको हेल्प करें.
  • साथ ही आपको पहले की तरह ही जल्दी उठकर अपने सारे काम निपटाने होंगे. नौकरी छोड़ दी है, इसलिए अपना मॉर्निंग रूटीन न बदलें.
  • हो सके तो बेड पर बैठकर काम करने की बजाय घर के किसी कोने में कंप्यूटर या लैपटॉप को टेबल पर इस तरह से रखें जैसे आप में बैठकर काम कर रही हैं. बाकी लोगों को कह दें कि आपको कम से कम 3-4 घंटे के ले डिस्टर्ब न करें. आप 8 घंटे लगातार तो काम नहीं कर सकतीं, इसलिए बीच में ब्रेक ले लें.
  • घर के काम निपटाने के बाद ऐसे ही लैपटॉप लेकर न बैठ जाएं, बल्कि नहा-धोकर तैयार होकर डीसेंट कपड़ों में काम करने बैठें. इससे आपको भी अच्छा महसूस होगा.

यह भी पढ़ेंः तो इसलिए नौकरी नहीं छोड़ना चाहती महिलाएं