उपवास में खाने वाला साबूदाना भी होता है मांसाहारी…यकीन न हो तो खुद ही पढ़ें ये पूरी खबर

0
815
साबूदाना

साबूदाना- कुछ ऐसी चीज़ें होती हैं, जिन्हें हम समझते हैं कि वो वो शुद्ध शाकाहारी हैं, लेकिन असल में वो मांसाहारी होती है. जब भी कोई उपवास करता है तो वो खाने में साबूदाने का उपयोग करता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि उपवास में खाने वाला साबूदाना भी मांसाहारी होता है.

चौंकिए मत. ये सच है. आपको हैरान होने की ज़रुरत नहीं है. उपवास ही नहीं बल्कि आम चीज़ें भी जिन्हें आप समझते हैं कि प्योर वेज हैं, वो असल में नॉन वेज निकलती हैं. ऐसी ही कुछ चीज़ों के बारे में जानते हैं.

साबूदाना

साबूदाना

इसे अक्सर लोग उपवास में ही खाते हैं. आज हम आपको बताएंगे इसकी सच्चाई के बारे में. साबूदाना जब पेड़ से गिरता है तो तो उसको उठाकर फ़ैक्ट्री में रखा जाता है जिसके बाद उसको सड़ने के लिए छोड़ दिया जाता है. उसमे कीड़े लग जाते हैं, जिसके बाद उसकी गोलियां बनाकर बाजारों में बेचा जाता है. जब गोलियां बनाई जाती हैं तब उसमें मरे हुए कीड़े मिक्स हो जाते हैं. इस तरह से वो मांसाहारी हो जाता है.

ये भी करें ट्राईंः 20 कुकिंग टिप्स जो आसान बनाएंगे आपकी कुकिंग को

शक्कर 

चाय, कॉफ़ी आदि में शक्कर मिलाका पिया जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये कैसी बनती है. शक्कर यानी चीनी को साफ़ करने और पीसने के लिए जिस चीज़ का इस्तेमाल होता है उसे हड्डियों से बनाया जाता है. इस तरह से ये भी मांसाहारी हो गई.

नूडल्स 

पहले ये बच्चे खाते थे, लेकिन धीरे-धीरे घर के बूढों को भी इसकी आदत लग गई. झट से बन जाए वाले नूडल्स भी मांसाहारी होते हैं. इसमें पोर्क सोडियम मिलाया जाता है. सूअर के मांस से बनता है ये.

इन चीज़ों का नाम सुनने के बाद बेहतर होगा कि आप इसे न खाएं. अगर आप पूरी तरह से शाकाहारी हैं तो ऐसी चीज़ों से बचें. इन्हें खाकर अपना उपवास या धर्म भ्रष्ट न करें. इसके अलावा भी ऐसी बहुत सी चीज़ें हैं जब उनके पैकेट्स पर आप देखेंगे तो पता चलेगा कि उसमें मीट मिला हुआ है. आमतौर पर पैकेट के ऊपर वेज लिखा होता है. बेहतर है आप पहले कंटेंट पढ़ें फिर उस चीज़ को खाएं.