ये हैं वो 5 डर जिसकी वजह से नाकाम शादी निभाती हैं महिलाएं

0
505
नाकाम शादी
Image Source

नाकाम शादी- आजकल भले ही लोग तलाक के मामलों में पहले की अपेक्षा काफी इज़ाफा हुआ है, क्योंकि आजकल की पढ़ी-लिखी और आत्मनिर्भर महिलाएं दबकर-घुटकर जीना नहीं चाहती, वो अपने हक के लिए लड़ना जानती हैं, मगर एक सच्चाई ये भी है कि ऐसी महिलाओं की तादाद बहुत कम है. इसके विपरित नाकाम शादी को निभाने वाली महिलाओं की तादाद बहुत ज्यादा है. पति और  ससुरालवालों के तानों और अत्याचार के बावजूद कुछ महिलाएं ऐसी शादी को तोड़ती नहीं है, बल्कि इस नाकाम शादी को निभाती हैं और इसका कारण हैं ये डर.

बच्चों का क्या होगा?

आज भी बच्चों के नाम के साथ पिता का नाम ही लगता है, ऐसे में महिलाओं को ये डर रहता है कि यदि वो पति से अलग हो गईं तो बच्चों के भविष्य का क्या होगा. उनकी परवरिश का खर्च वो कैसे जुटा पाएंगी और वो अकेले बच्चों को लेकर कहां जाएंगी. कल को बच्चों ने पूछा की पापा कहां गए तो क्या जवाब देगी, इन्हीं बातों से डरकर वो ऐसी शादी को भी निभाती रहती है जिसमें प्यार जैसा कुछ बचा ही नहीं है. पति से अलग हो जाने पर उसके बच्चों का भविष्य अधर में लटक जाएगा ये डर उसे नाकाम शादी को निभाने के लिए मजबूर करता है.

नाकाम शादी
Image Source

खर्च कैसे चलेगा?

एक बार को वो हिम्मत करके पति से अलग होने का फैसला कर भी लेती है तो आगे खुद अपना और बच्चों का खर्च कैसे चला पाएगी ये सोचकर ठहर जाती है. आर्थिक रूप से वो आत्मनिर्भर नहीं है, ऐसे में आज के दौर में खुद अपना और बच्चों का खर्च चलाना और उन्हें अच्छी लाइफस्टाइल देना आसान नहीं हैं. यही सब सोचकर वो अपने कदम पीछे खींच लेती है.

यह भी पढ़ेंः शादी के बाद नहीं बल्कि पहले ही हनीमून पर जाने को बेताब रहते हैं ये 5 तरह के कपल

नाकाम शादी
Image Source

मायके में कौन रखेगा?

शादी के बाद लड़की का घर उसका ससुराल ही होता है, मायके तो वो एक गेस्ट की तरह जाती है. यदि वहां वो ज्यादा दिन रुक जाए तो भाभी और पड़ोसी सब ताना मारने लगते हैं, ऐसे में यदि वो पति से अलग होने के बाद हमेशा मायके में रहने के बारे में तो सोच ही नहीं सकती. ऐसी बातें सोचकर ही अक्सर महिलाएं ससुराल में बदतर जिंदगी जीती रहती हैं, मगर पति से तलाक नहीं लेतीं.

नाकाम शादी
Image Source

लोग क्या कहेंगे?

महिलाओं का सबसे बड़ा डर यही होता है लोग क्या कहेंगे? अगर मैं पति से तलाक ले लिया तो दुनिया क्या कहेगी, यही न कि इसी में कुछ कमी होगी और लोग मुझे इज्ज़त की निगाह से नहीं देखेंगे जैसी सोच के कारण ही कुछ महिलाएं ज़िंदगी में कुछ कर नहीं पाती और नाकाम शादी निभाने के पीछे ये भी एक बड़ी वजह है.

यह भी पढ़ेंः बॉयफ्रेंड की कैटेगरी- आपका वाला किस कैटेगरी में आता है?

नाकाम शादी
Image Source

पैरेंट्स का क्या होगा?

अगर मैंने तलाक ले लिया तो मेरे माता-पिता को कितना दुख होगा, वो कैसे सह पाएंगे मेरे घर टूटने का दर्द. ऐसी इमोशनल बातें सोचकर ही महिलाएं अक्सर अपने कदम पीछे खींच लेती है और आज के ज़माने में भी नाकाम शादी को निभाती चली जाती हैं.