ओह! तो इसलिए लड़कों की पहली पसंद बीवी नहीं, गर्लफ्रेंड होती है

0
648
Why Men Like Girlfriend More Than Wife
Image Source

लड़कों की पहली बीवी नहीं गर्लफ्रेंड- आज के समय में गर्लफ्रेंड रखना कोई बड़ी बात नहीं है, बैचलर्स ही नहीं, बल्कि शादीशुदा मर्दों की भी गर्लफ्रेंड होती हैं जिसे वो बीवी से ज़्यादा प्यार करते हैं और जिसकी बाहों में जाने के लिए कई बार वो अपनी पत्नी से झूठ भी बोलते हैं, लेकिन ऐसा क्या होता है गर्लफ्रेंड में कि मर्द अपनी पत्नी को छोड़कर गर्लफ्रेंड के पास भागते हैं? चलिए इस सवाल का जवाब जानने की कोशिश करते हैं.

Why Men Like Girlfriend More Than Wife
Image Source

सेक्स के लिए ऑलवेज़ रेडी

कई बार हो सकता है कि पुरुष किसी से इमोशनली अटैच हो जाते हैं, मगर ज़्यादातर मामलों में गर्लफ्रेंड बनाने का मकसद शारीरिक संबंध ही होता है. क्योंकि वो गर्लफ्रेंड के पास हमेशा नहीं रहते हैं, तो जब भी वो उससे मिलते हैं तो गर्लफ्रेंड उनपर सारा प्यार उड़ेल देती है और वो भी तो यही चाहते हैं शारीरिक प्यार और वो भी बिना किसी जवाबदेही के. गर्लफ्रेंड से प्यार करने के बाद वो चल देते हैं उस लड़की की बाकी कोई ज़िम्मेदारी उनकी नहीं होती, जबकि पत्नी की सारी ज़िम्मेदारी उन पर होती है और कई बार मूड ठीक न होने या किसी और वजह से बीवी सेक्स से इनकार भी कर देती है.

Why Men Like Girlfriend More Than Wife
Image Source

यह भी पढ़ेंः क्या ज़रूरी हो गया है एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर? 

कोई रोक टोक नहीं

‘आप फोन पर किससे हंस-हंसकर बात कर रहे थे, आज ऑफिस से आने में इतनी देर कैसे हो गई, ये रातभर आपको किसके मैसेज आते रहते हैं’, जैसे अनगिनत सवाल बीवी पूछती है, जबकि एक बार मिल लेने के बाद गर्लफ्रेंड को कोई मतलब नहीं होता कि आप कहां गए और किससे मिले. मगर बीवीयों को पल-पल का हिसाब देना होता है इसलिए भी मर्द बीवी की बजाय गर्लफ्रेंड को ज़्यादा पसंद करते हैं.

घरवालों के प्रति कोई ज़िम्मेदारी नहीं

गर्लफ्रेंड से मर्दों का रिश्ता बस उस तक ही सीमित होता है. उसके घरवालों से उन्हें कोई मतलब नहीं होता, मगर बीवी के मायके वालों और रिश्तेदारों का ख्याल रखने की ज़िम्मेदारी उनकी होती है जो उन्हें कभी पसंद नहीं आती. इसलिए तो वो गर्लफ्रेंड को तरजीह देते हैं.

यह भी पढ़ेंः बेस्ट पति बनने के लिए सीखें अक्षय कुमार से ये 5 बातें

Why Men Like Girlfriend More Than Wife
Image Source

कानूनी अड़चन नहीं

बीवी से अलग होने के लिए तलाक देना पड़ेगा और इसके लिए लंबी कानून लड़ाई लड़नी पड़ती है. कभी-कभी अच्छी खासी रकम भी मुआवजे के तौर पर देनी पड़ती है, मगर गर्लफ्रेंड से अलग होने में कोई झंझट नहीं होता, उससे बस ब्रेकअप कर लिया और सब ख़त्म कोई कानूनी दावपेंच नहीं लड़ाने होते. ब्रेकअप के बाद आराम से नई गर्लफ्रेंड बना लेते हैं.

मर्दों को हमेशा वही लड़की पसंद आती है जो उनके हिसाब से चले खासतौर पर अपनी बीवी से तो वो यही उम्मीद करते हैं कि वो हमेशा उनके कहे अनुसार ही चलेगी और जब ऐसा नहीं होता तो उनका मेल इगो हर्ट होने लगता है और रिश्तों में दरार आ जाती है.