हार्दिक पांड्या के बयान ने साबित कर दिया लड़कियों को ऑब्जेक्ट से ज़्यादा कुछ नहीं समझते लड़के

0
349
Image Source

टीम इंडिया के युवा खिलाड़ी हार्दिक पांड्या अपने स्टाइल के बाद अब बयान को लेकर सुर्खियों में है. ट्विटर पर उन्हें जमकर गालियां भी पड़ रही है. हालांकि अपने बयान के लिए उन्होंने माफी भी मांग ली है, लेकिन उन्होंने जो कुछ भी कहा उसने लड़कों कि घटिया मानसिकता को एक बार फिर से उजागर कर दिया.

अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसे भला क्या कह दिया हार्दिक ने. दरअसल, हार्दिक करण जोहर के शो कॉपी विद करन में अपने साथी खिलाड़ी केएल राहुल के साथ पहुंचे थे। हार्दिक ने ज़रूरत से ज़्यादा दोस्ताना व्यवहार करने की कोशिश की और फंस गए अपने बड़बोलेपन में या यूं कहे कि अपनी सच्चाई और लड़कों की मानसिकता उजागर कर दी।

करण ने उनसे कई पर्सनल सवाल किए जिसका हार्दिक ने बड़ी ही बेबाकी से जवाब दिया, मगर अपनी इस बेबाकी में वो भूल गए कि वो नेशनल टीवी पर बात कर रहे हैं और उन्हें महिलाओं के मान-सम्मान का भी ध्यान रखना चाहिए. शो के दौरान होस्ट करण जोहर ने दोनों खिलाड़ियों से उनकी निजी जिंदगी के बारे में सवाल किए थे. हार्दिक पांड्या ने इस दौरान रिलेशनशिप, डेटिंग और महिलाओं से जुड़े सवालों के जवाब देकर फैंस को हैरान कर दिया. पांड्या ने बताया कि उनके परिवार वालों की सोच काफी खुली हुई है और जब उन्होंने पहली बार लड़की के साथ शारीरीक संबंध बनाए तो घर आकर कहा, आज करके आया हूं.

Image Source

पांड्या ने अपने पुराने समय को याद करते हुए यह भी बताया कि वह अपने माता-पिता को पार्टी में लेकर गए जहां हार्दिक के पिता ने बेटे से पूछा कि किस महिला को देख रहा है? उन्होंने एक के बाद एक सभी महिलाओं की तरफ उंगली दिखाकर बताया कि मैं सभी को देख रहा हूं. इतना ही नहीं पांड्या ने यह भी कहा कि उन्हें लड़कियों से बात करने की बजाय उन्हें घूरने में मज़ा आता है. एक खिलाड़ी का ऐसा बयान वाकई शर्मनाक है. हमारे देश में लोग फिल्म स्टार और खिलाड़ियों को अपना आदर्श मानते हैं, अब ज़रा सोचिए कि किसी का आदर्श ही ऐसी ओछी बातें करेगा तो लोगों पर क्या असर होगा. वैसे पांड्या ने एक बार फिर से इस बात को सच कर दिखाया है कि हमारे समाज के मर्दों के लिए महिलाएं एक ऑब्जेक्ट ही हैं. अरे, भई कब उन्हें इंसान समझोगे वह भी अपनी बराबरी का?